Loading ...

Press Release 1: 13.01.2018-Delhi State | Bharatiya Janata Party

Press Release 1: 13.01.2018-Delhi State

  •  /5
    Avg: 0 / 5 (0votes)
  • (0)
  • (34)
Published: 13/01/18 10:08 AM by Delhi BJP
विधानसभा में दिल्ली की जनता से जुड़े 20 मुद्दे उठा केजरीवाल सरकार द्वारा की जा रही धांधलियों का पर्दाफाश करेगी भाजपा

लगभग 10 वर्ष से लटका कर रखी 351 सड़कों के नोटिफिकेशन की फाइल को वापस कर केजरीवाल सरकार ने जहां एक ओर सरकारी लाल फीताशाही को प्रमाणित किया वहीं दूसरी ओर यह भी स्थापित किया कि अब केजरीवाल सरकार जनता के प्रति भी द्वेष के भाव से काम कर रही है-विजेन्द्र गुप्ता


    नई दिल्ली, 13 जनवरी।  दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता ने आज एक पत्रकारवार्ता में कहा कि अब तक हम मानते थे कि केजरीवाल सरकार विपक्ष के प्रति राजनीतिक द्वेष के साथ काम करती है पर कल जिस तरह दिल्ली सरकार ने 351 सड़कों के मामले में तीनों नगर निगमों की महापौरों को गुमराह करने का प्रयास किया और लगभग 10 वर्ष से लटका कर रखी 351 सड़कों के नोटिफिकेशन की फाइल को वापस किया उसने जहां एक ओर सरकारी लाल फीताशाही को प्रमाणित किया वहीं दूसरी ओर यह भी स्थापित किया कि अब केजरीवाल सरकार जनता के प्रति भी द्वेष के भाव से काम कर रही है।  पत्रकारवार्ता में विधायक सरदार मनजिन्दर सिंह सिरसा, श्री ओम प्रकाश एवं श्री जगदीश प्रधान और प्रवक्ता श्री प्रवीण शंकर कपूर उपस्थित थे।

    श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि 2007 में दिल्ली के मास्टर प्लान-2021 में दी गई सभी छूटों के अनुरूप नगर निगमों के मापदंडों के आधार पर नगर निगम ने सड़कों का सर्वे किया उसके बाद प्रियेम्बल एवं प्रस्ताव पारित कर दिल्ली सरकार को पहले 2183 सड़कों के लिए और उसके बाद 351 और सड़कों के लिए भेजा पर न तो तत्कालीन कांग्रेस की श्रीमती शीला दीक्षित सरकार ने और न ही वर्तमान अरविन्द केजरीवाल सरकार ने इन 351 सड़कों को नोटिफाइ किया।

    श्री गुप्ता ने कहा कि 351 सड़कों के लिए जिस आधार पर सर्वे किया गया, प्रियेम्बल बना एवं प्रस्ताव पारित किया गया उसी आधार पर पूर्व में 2183 सड़कों के लिए किया गया था।  हम दिल्ली सरकार से पूछना चाहते हैं कि यदि 2183 सड़कों के लिए निगम का सर्वे एवं प्रस्ताव ठीक था तो 351 सड़कों के मामले में यह रोक-टोक क्यों हो रही है।

    विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि यह 351 सड़कें दिल्ली देहात, अनधिकृत कालोनियों एवं पूर्वी दिल्ली के ऐसे क्षेत्रों से जुड़ी है जहां लोगों ने जीवन भर की कमाई को जोड़कर छोटी-छोटी दुकानें बनाई हैं और केजरीवाल सरकार गत वर्ष सम्पन्न नगर निगम चुनावों में अपनी हार का बदला लेने के लिए 351 सड़कों के नोटिफिकेशन की फाइल को लटका रही है।  
2/-

- - 2 - -

    श्री गुप्ता ने कहा कि 15 जनवरी से प्रारम्भ हो रहे विधानसभा सत्र में हम दिल्ली में चल रही सीलिंग के मुद्दे, 351 सड़कों के नोटिफिकेशन पर केजरीवाल सरकार की लापरवाही, दिल्ली में प्रस्तावित बिजली दामों मंे बढ़ोत्तरी के साथ ही दिल्ली की जनता से जुड़े 20 गंभीर मामलों को उठायेंगे।  हमनें विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर भी मांग की है कि दिल्ली के सीलिंग, बिजली-पानी, मेट्रो, स्वास्थ्य एवं शिक्षा सेवाओं और ठंड से हो रही मृत्यु जैसे ज्वलंत मुद्दों पर विशेष चर्चा कराई जाये। 

    इन 20 मुद्दों में प्रमुख मुद्दे हैं पानी एवं बिजली की दरों में प्रस्तावित वृद्धि, बिजली बिलों में पेंशन सेस लगाकर जनता पर बोझ डालना, समाजिक पेंशनों में रूकावट, मेट्रो के चैथे चरण की स्वीकृति एवं तीसरे चरण को पूर्ण करने में बाधायें, दिल्ली की गंभीर पर्यावरण समस्या के बावजूद पर्यावरण सेस के रूप में एकत्रित लगभग 1,200 करोड़ रूपये का उपयोग न करना, विश्वविद्यालय से जुड़े कालेजों के फंडिंग में राजनीति एवं शिक्षा के मामले में जनता से छलावा आदि। 

    हम दिल्ली में केजरीवाल सरकार द्वारा निजी अस्पतालों एवं स्कूलों से सांठगांठ जिसका प्रमाण मैक्स अस्पताल मामले में देखने को मिला और दिल्ली में पिछले दो सालों में ई.डब्ल्यू.एस. कोटे से निजी स्कूलों में एडमीशन में कटौती के मुद्दे को भी विधानसभा में उठायेंगे। 

    भाजपा विधायकों ने कहा कि केजरीवाल सरकार लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सेवायें देने की बड़ी-बड़ी बातें करती है पर उसकी नियत में खोट इसी से साफ दिखाई देती है कि संसद से पारित क्लीनिकल एवं स्टेबिलिसमेन्ट एक्ट-2015, विक्लांक सहायता बिल-2016 एवं मानसिक चिकित्सा बिल-2017 की दिल्ली विधानसभा में संस्तुति को लम्बे समय से लटका रखा है।

BJP will expose the High Handedness of Kejriwal Government by raising 20 issues connected with the people of Delhi in the next Assembly Session

 

  BY RETURNING THE FILE PERTAINING TO THE NOTIFICATION OF 351 ROADS PENDING FOR THE LAST 10 YEARS, KEJRIWAL GOVERNMENT HAS PROVED THAT THERE IS RED TAPISM IN THE WORKING OF GOVERNMENT AND ALSO THAT KEJRIWAL GOVERNMENT IS WORKING WITH THE MALICE TOWARDS THE PEOPLE OF DELHI – Vijender Gupta

 

New Delhi, 13th Jan.   Leader of the Opposition in Delhi Legislative Assembly Shri Vijender Gupta has in a press conference said that till date we believed that Kejriwal Government works with political malice towards the Opposition Parties but yesterday the way in which Delhi Government tried to mislead the Mayors of the three Municipal Corporations in connection in the issue of 351 roads.  The return of the file pertaining to notification of 351 roads pending for the last 10 years proves on the one hand there is red tapism in the working of Government and on the other the Kejriwal Government is working with the malice towards the people of Delhi.MLAs Sardar Manjinder Singh Sirsa and Shri Jagdish Pradhan and Spokesperson Shri Praveen Shankar Kapoor were present in the press conference.

 

Shri Vijender Gupta said that in the year 2007, the Municipal Corporation surveyed the roads in accordance with the Delhi Master Plan-2021 and after passing a preamble & proposal first forwarded a list of 2183 roads and subsequently another 351 roads to the Government for notification but the then Congress Government under Smt. Sheila Dikshit nor the present Arvind Kejriwal Government notified these 351 roads.

 

Shri Gupta said that the basis on which the 351 roads were surveyed and preamble was framed and proposal was passed on the same basis as the earlier proposal of 2183 roads. We want to ask a question to the Delhi Government that if the survey and proposal for 2183 roads was in order then why questions are being raised in the case of 351 roads.

 

Leader of the Opposition also said that these 351 roads are connected with rural Delhi, unauthorized colonies, East Delhi and such areas where the people have started small shops by investing earnings of their whole life and the Kejriwal Government is putting hindrance in the notification of 351 roads only to take revenge for the defeat in the MCD Elections last year.

 

Shri Gupta said that we shall raise 20 serious issues connected with the people of Delhi including the ongoing sealing in Delhi, negligent attitude of the Kejriwal Government in notifying the 351 roads, proposed hike in the power tariff etc. In a letter written to the Speaker of the Assembly we have demanded that discussion should be held on the issue of sealing, Power-Water Tariff, Metro, Health & Education Services and the deaths due to cold weather conditions in Delhi.

 

Out of these 20 issues the prominent are the proposed hike in water and power tariff, additional burden on the people by imposing pension cess in the power bills, withholding social pension and approval of the 4th Phase of Metro and hindrance in the completion of 3rd Phase, non utilization of environment cess of Rs. 1000 crores in spite of serious pollution, politics in the funding of University and its colleges and betrayal in the field of education etc.

 

We shall also raise the issue of connivance between Kejriwal Government and the private hospitals/schools which has been proved in the case of Max Hospital and also the issue of failure of the Government to fill the EWS quota in the admission to the private schools.

 

The BJP MLAs said that Kejriwal Government talks of providing good health services to the people but its intentions are not good which is evident from the fact that this Government has not approved the Clinical Establishment Act-2015 passed in the Parliament and has not cleared Handicapped Assistance Bill-2016 and Mental Health Bill-2017 in the Delhi Legislative Assembly for long.       

 

Media Department  

9811040330

  मीडिया विभाग       
                                       9811040330


     

 

Comments (no comments yet)

Top News