Loading ...

Press Release 2: 02.01.2018-Delhi State | Bharatiya Janata Party

Press Release 2: 02.01.2018-Delhi State

  •  /5
    Avg: 0 / 5 (0votes)
  • (1)
  • (64)
Published: 02/01/18 2:42 PM by Delhi BJP

The paralyzing of Government Hospitals by the Kejriwal Government has severely hurt the economically poor people of Delhi THE WAY KEJRIWAL GOVERNMENT HAS TRIED TO RUSH THROUGH THE PROPOSAL OF FREE TREATMENT IN PRIVATE HOSPITALS; IT APPEARS THAT THE INTENTION OF THE GOVERNMENT IS NOT TO BENEFIT THE COMMON PEOPLE BUT TO PROVIDE FREE MEDICAL FACILITIES FOR ITS PARTY CADRE AND LEADERS – MANOJ TIWARI

New Delhi, 2nd Jan. Delhi BJP President Shri Manoj Tiwari has said that Arvind Kejriwal Government has further weakened the infrastructure of Government hospitals, the medical teams and medicines availability therein with mala fide intension of benefiting the private hospitals. Shri Tiwari has said Delhi has around 30 big Government hospitals. Though in Smt. Sheila Dikshit regime itself the deterioration of Government hospitals started, yet still around 4 to 5 years ago hospitals like G.B. Pant & Trauma Centre served as referral hospitals but after 2013 when Arvind Kejriwal Government first came to power the infrastructure of Government hospitals has almost collapsed. The paralyzing of Government Hospitals by the Kejriwal Government has severely hurt the economically poor people of Delhi. Taking advantage of this situation Kejriwal Government recently brought a scheme declaring that all the people denied treatment in Government hospitals will get free treatment in private hospitals at Government cost. The general proposal of free treatment in private hospitals for those denied treatment in Government hospitals is a political deceit as such schemes are properly classified and then only they get the required legal recognition. Delhi BJP President has said that the way Kejriwal Government has tried to rush through the proposal of free treatment in private hospitals; it appears that the intention of the Government is not to benefit the common people but to provide free medical facilities for its party cadre and leaders. Shri Manoj Tiwari has said that if Arvind Kejriwal Government is serious towards providing free medical facility in private hospitals for economically weaker section of the society then it should adhere to the lawful procedure. 

केजरीवाल सरकार द्वारा अस्पतालों को पंगु बनाने का सबसे अधिक नुकसान समाज के आर्थिक रूप से अक्षम लोगों को हुआ है जिस तरह बिना प्रक्रिया को पूरा किये केजरीवाल सरकार निजी अस्पतालों में इलाज की योजना को लागू करना चाहती है, उसे देखकर ऐसा लगता है कि मंशा आम नागरिकों को निजी अस्पतालों का निःशुल्क इलाज देने की नहीं बल्कि पार्टी से जुड़े कार्यकर्ताओं एवं नेताओं को देने की है - मनोज तिवारी

नई दिल्ली, 2 जनवरी। भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल सरकार जानबूझकर निजी अस्पतालों को लाभ पहुंचाने के लिये सरकारी अस्पतालों के मूलभूत ढांचे को, वहां उपलब्ध चिकित्सा टीमों को एवं दवाई उपलब्धता को कमजोर कर रही है। श्री तिवारी ने कहा है कि दिल्ली में 30 से अधिक बड़े सरकारी अस्पताल हैं। यूं तो शीला दीक्षित शासन में ही सरकारी अस्पतालों का पतन शुरू हो गया था पर इनमें से जी.बी. पंत एवं ट्राॅमा सेंटर जैसे अनेक अस्पताल अभी 4-5 वर्ष पूर्व तक रेफरल अस्पताल के रूप में देखे जाते थे पर 2013 में केजरीवाल सरकार के पहली बार आने के बाद देखते-देखते दिल्ली के सरकारी अस्पतालों का ढांचा पूरी तरह चरमरा गया है। केजरीवाल सरकार द्वारा अस्पतालों को पंगु बनाने का सबसे अधिक नुकसान समाज के आर्थिक रूप से अक्षम लोगों को हुआ है। इसी का लाभ उठाकर केजरीवाल सरकार ने निजी अस्पतालों में लोगों के निःशुल्क इलाज की एक योजना बनाई पर उसे बनाते हुये कहीं यह स्पष्ट नहीं किया कि समाज के किस वर्ग को यह सुविधा दी जायेगी। सरकारी अस्पतालों में सुविधायें न मिलने पर निजी अस्पतालों में निःशुल्क इलाज की सुविधा देने का अरविंद केजरीवाल सरकार का प्रस्ताव केवल एक राजनीतिक छलावा है क्योंकि ऐसी योजनायें हमेशा वर्गीकृत तरीके से बनाई जाती हैं तभी उन्हें संविधानिक मान्यता मिलती है। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है जिस तरह बिना प्रक्रिया को पूरा किये केजरीवाल सरकार निजी अस्पतालों में इलाज की योजना को लागू करना चाहती है, उसे देखकर ऐसा लगता है कि मंशा आम नागरिकों को निजी अस्पतालों का निःशुल्क इलाज देने की नहीं बल्कि पार्टी से जुड़े कार्यकर्ताओं एवं नेताओं को देने की है। श्री मनोज तिवारी ने कहा है कि अगर अरविंद केजरीवाल सरकार समाज के आर्थिक रूप से अक्षम लोगों को निजी अस्पतालों में निःशुल्क इलाज की सुविधा सच में देना चाहती है तो उसके लिये कानूनी प्रक्रिया पूरी करे।

Media Department  

9811040330

  मीडिया विभाग       
                                       9811040330

samit chakraborty and Om Ray like this.
 

Comments (1)

  
qusytivuq
qusytivuq max said:

Poor governess leads for making bad polices for the countries and such may results for wrong and needy returns and good go ahead in life. The function of whole government complete in wrong way. The aim for job application writing service is for good findings of new job.

12/01/18 8:57 AM
 · 
 
 /5
Avg: 0 / 5 (0votes)
by

Top News