Loading ...

Press Release 1: 10.11.2017-Delhi State | Bharatiya Janata Party

Press Release 1: 10.11.2017-Delhi State

  •  /5
    Avg: 0 / 5 (0votes)
  • (0)
  • (30)
Published: 10/11/17 11:03 AM by Delhi BJP
केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण के मुद्दे पर भारी लापरवाही की है और अब अपने बचाव के लिए आॅड-इवन सहित अनेक सांकेतिक निर्णय ले रही है और भाजपा मांग करती है कि मुख्यमंत्री प्रदूषण के मुद्दे पर जनता के पांच मौलिक प्रश्नों के जवाब दे

केजरीवाल सरकार की लापरवाही के चलते दिल्ली में सी.एन.जी. वाहन प्रणाली लागू होने से पूर्व जो स्थिति थी आज उसी स्तर पर पहुंच गई है-मनोज तिवारी


    नई दिल्ली, 10 नवम्बर।   दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने आज उत्तर पूर्व दिल्ली में लोगों के बीच प्रदूषण रोधी एयर मास्क वितरण किया।  
    
    वितरण पश्चात पत्रकारों से बात करते हुये श्री तिवारी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सरकार एवं न्यायालय द्वारा प्रदूषण को रोकने के हर संभव प्रयास का समर्थन करती है पर आज दिल्ली की जनता केजरीवाल सरकार के प्रयासों से असंतुष्ट है और गत तीन दिन में जनता के बीच इस संदर्भ में जो चर्चायें हैं उसके आधार पर कुछ मौलिक प्रश्न उभरते हैं जिनका केजरीवाल सरकार को जवाब देना चाहिये।  

    दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केजरीवाल सरकार की लापरवाही के चलते दिल्ली में सी.एन.जी. वाहन प्रणाली लागू होने से पूर्व जो स्थिति थी आज उसी स्तर पर पहुंच गई है। 

    श्री तिवारी ने कहा कि हमें आॅड-इवन वाहन चालन पद्धति लागू किये जाने पर कोई आपत्ति नहीं है पर सरकार की इस पर गंभीर नजर नहीं आती।  आॅड-इवन लागू करने का निर्णय एक आपातकालीन निर्णय की तरह 9 नवम्बर को घोषित किया जाता है पर लागू करने की तिथि 13 नवम्बर तय की जाती है।  इस चार दिन के अंतराल को रखे जाने से आॅड-इवन के एक आपातकालीन कदम होने की गंभीरता पर ही प्रश्न खड़ा हो जाता है। 

    श्री तिवारी ने कहा कि यूं तो पहले से ही यह स्थापित है कि स्वयं मुख्यमंत्री ने माना है कि पिछली बार लागू किये जाने पर आॅड-इवन प्रदूषण कम करने में असफल रहा था पर आज माननीय राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण द्वारा भी आॅड-इवन को लेकर गंभीर प्रश्न खड़े किये गये हैं और प्राधिकरण की टिप्पणियों ने केजरीवाल सरकार को एक संवेदनहीन प्रशासक के रूप में प्रस्तुत किया है।  आवश्यकता है कि केजरीवाल सरकार यह बताये कि उसने आॅड-इवन लागू करने का निर्णय किस आधार पर लिया ?

    श्री तिवारी ने कहा कि इसी तरह केजरीवाल सरकार ने जनता और न्यायालय को भ्रमित करने के लिए पेड़-पौधों को धोने की बात रखी है पर क्या इतनी बड़ी दिल्ली में यह संभव है।  आवश्यकता है सरकार यह बताये कि गत तीन वर्ष में सरकार ने प्रदूषण रोधी क्या कार्यक्रम बनाये खास कर अकास्मिक स्थिति से जूझने के लिए ?  

    श्री तिवारी ने कहा कि आज दिल्ली में सभी को पता है कि प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण धूल प्रदूषण है पर सरकार अपनी जिम्मेदारी से बचने के लिए कभी पड़ोसी राज्यों में पराली जलाये जाने तो कभी वाहन प्रदूषण पर दोष मढ़ने का प्रयास करती है।  आवश्यकता है कि आज केजरीवाल सरकार स्पष्ट करे कि उसने गत तीन साल में धूल प्रदूषण को काबू करने के लिए क्या ठोस नीति बनाई और माननीय न्यायालय के निर्देश अनुसार कितनी धूल उठाने वाली सफाई मशीनें खरीदीं ?
2/-

- - 2 - -

    श्री तिवारी ने कहा कि प्रदूषण कम करने के लिए एक गंभीर कदम है लोगों को विश्वसनीय सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था देना पर केजरीवाल सरकार इस मुद्दे पर पूरी तरह विफल रही है।  आवश्यकता है आज केजरीवाल सरकार स्पष्ट करे कि उसने गत तीन साल में कितनी नई डी.टी.सी. बसें खरीदीं या फिर विद्युत वाहनों के परिचालन को बढ़ाने के लिए क्या प्रयास किया और आखिर क्यों मेट्रो के चैथे चरण के विस्तार को लंबित किया ?

    श्री तिवारी ने कहा कि हम प्रदूषण के मुद्दे पर राजनीतिक बहस नहीं करना चाहते पर गत दिन पंजाब विधानसभा में आम आदमी पार्टी के विधायक सुखपाल सिंह की पंजाब के किसानों को पराली जलाने के लिए भड़काने वाली वीडिओ सामने आई है जिससे दिल्ली एवं हरियाणा ही क्या स्वयं पंजाब में प्रदूषण बढ़ा है।  अपनी इस भड़काऊ कार्रवाई से आप विधायक ने माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशों की अवमानना की।  आवश्यकता है कि आज अरविन्द केजरीवाल जो आप के मुखिया हैं वह बतायें कि वह अपने विधायक सुखपाल सिंह पर क्या कार्रवाई की ?  

    श्री तिवारी ने कहा कि दिल्ली की जनता के उपरोक्त पांच मौलिक प्रश्नों के जवाब देने के साथ-साथ अरविन्द केजरीवाल बतायें कि उन्होंने ट्वीट करने के अलावा पंजाब एवं हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से बात करने का क्या प्रशासनिक प्रयास किया।

Kejriwal Government has been negligent in preventing pollution & to save its skin is resorting to face saving measures like odd-even but people of Delhi want the Chief Minister to answer five major questions on pollution issue  

 

KEJRIWAL GOVERNMENT NEGLIGENCE THE SITUATION OF POLLUTION IS WORSE THAN IT WAS EVEN DURING THE PRE CNG VEHICLES INTRODUCTION DAYS – MANOJ TIWARI

 

 

New Delhi, 10th Nov.  Delhi BJP President Shri Manoj Tiwari today distributed anti pollution air masks amongst the people in North East Delhi.

 

Speaking to news persons soon after the distribution Shri Tiwari said that Bharatiya Janata Party supports all measures being initiated against pollution by the Delhi Government and the Hon’ble Courts but today people of Delhi are unsatisfied with the efforts of Kejriwal Government. For last three days I have been going amongst the people to help them and after talking to them a few basic questions come up and Kejriwal Government must answer them.

 

Delhi BJP President has said that due to the negligence of Kejriwal Government the situation on pollution front has deteriorated a lot and it would not be wrong if we say that situation is worse than what existed before the introduction of CNG vehicles in Delhi.

 

Shri Tiwari said that we have no reservations towards introduction of odd-even vehicle plying system but the Government does not seem to be sincere about it. It is surprising that the introduction of odd-even vehicle plying is announced on the evening of 9th November but its implementation is to come into force on 13th November. This four day delay has put questions on odd-even being called an emergency step.

 

Shri Tiwari said that facts on record tell and the Chief Minister has also said that odd-even has not been successful to curb pollution but today even the Hon’ble National Green Tribunal has raised questions on odd-even system.The observations of NGT indicate that it feels the Kejriwal Government efforts lack sincerity. Today people want Kejriwal Government to tell on what basis it has decided to implement odd-even vehicle plying system?

 

Shri Tiwari said that Kejriwal Government is trying to mislead the people and Courts by saying that it would wash trees & plants but everyone knows that this is practically impossible. Today people want Kejriwal Government to tell what draft policy it made as anti pollution measures especially the contingency measures for situations like today?

Contd.2

 

 

 

2.

 

Shri Tiwari said that people of Delhi very well know that dust pollution is the biggest cause of air pollution in Delhi but the Kejriwal Government is trying to pass the buck on crop residual burning in neighboring states & on vehicular pollution. Today people of Delhi want Kejriwal Government to clarify what steps it has taken to control dust pollution and how many mechanical sweeping & dust engulfing machines it has bought for use in Delhi as directed by the Hon’ble Supreme Court of India?

 

Shri Tiwari said that developing a credible Public Transport System is an important step to curb pollution. Today people of Delhi want Kejriwal Government to tell that during last three years how many new buses it bought for DTC or what effort it has made to promote use of electrical vehicles and above all why it has delayed the financial sanction of fourth phase of Delhi Metro?

 

Shri Tiwari said that we do not want to politicize the discussion on pollution but after watching a video showing Aam Aadmi Party’s leader in the Punjab Vidhan Sabha Sukhpal Singh burning crop residual to provoke the farmers which result in rise of the pollution level not only in Delhi & Haryana but also in Punjab, a pertinent question rises. In addition to being cause of pollution the act of MLA Sukhpal Singh is contempt of Hon’ble Supreme Court of India’s order in the matter. Today people of Delhi want Arvind Kejriwal who also heads AAP to tell what action he has taken against MLA Sukhpal Singh?

 

Shri Tiwari said that the Chief Minister should come forward to answer these five basic questions of people of Delhi and also tell what administrative effort he made to contact the Chief Ministers of Punjab & Haryana because people have seen him only making tweets in the matter.

  

(Mahesh Verma) 

Head of Media Department  

+919013336116                                                           

(PRAVEEN SHANKAR KAPOOR)  

Co-Head of Media Department   

+919811040330

 

(महेश वर्मा)

 प्रमुख, मीडिया विभाग            

9013336116

(प्रवीण शंकर कपूर)

सह-प्रमुख, मीडिया विभाग

9811040330 

 

Comments (no comments yet)

Top News