Loading ...

Press Release 1 : 31.08.2017-Delhi State | Bharatiya Janata Party

Press Release 1 : 31.08.2017-Delhi State

  •  /5
    Avg: 0 / 5 (0votes)
  • (0)
  • (96)
Published: 31/08/17 11:56 AM by Delhi BJP
यदि केजरीवाल सरकार चाहती तो केवल रिटर्न आॅन इक्विटी को वर्तमान बैंक दरों के हिसाब से घटाकर बिजली दरों में 10 से 15 प्रतिशत की कटौती कर सकती थी पर सरकार ने निजी कंपनियों से सांठगांठ करना जनता को लाभ देने से बेहतर समझा - मनोज तिवारी


    नई दिल्ली, 31 अगस्त।  दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल सरकार एवं डी.ई.आर.सी. ने आज दिल्ली की जनता के साथ विश्वासघात किया है। गत 31 माह में केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में बिजली की दरें घटाने के लिये कोई प्रयास नहीं किया और बिजली कंपनियों के खातों की जांच के नाम पर भी केवल छलावा किया गया।

    श्री तिवारी ने कहा कि आज सरकार ने प्रत्यक्ष रूप मंे तो बिजली की दरों में कोई वृद्धि नहीं दर्शाई परन्तु परोक्ष रूप से फिक्सड सरचार्ज की दरों में किये गये बदलावों से निजी कंपनियों को 35 से 40 करोड़ रूपये का लाभ पहुंचेगा।  

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि यदि केजरीवाल सरकार चाहती तो केवल रिटर्न आॅन इक्विटी को वर्तमान बैंक दरों के हिसाब से घटाकर बिजली दरों में 10 से 15 प्रतिशत की कटौती कर सकती थी पर सरकार ने निजी कंपनियों से सांठगांठ करना जनता को लाभ देने से बेहतर समझा। आज देश एवं विदेशों में बैंक ब्याज दरें गत 5 वर्ष पहले के मुकाबले बहुत कम हैं पर केवल दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार ही बिजली कंपनियों पर इतनी मेहरबान है कि 2010 की बैंक दरों के आधार पर निजी कंपनियों को रिटर्न आॅन इक्विटी दे रही है।

श्री मनोज तिवारी ने कहा कि डी.ई.आर.सी. और केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के किसानों को भी निराश किया है क्योंकि उन्होंने किसानों के सिचाईं के लिये दिये गये कनेक्शनों पर भी दरें नहीं घटाईं और वर्ष 2016 से ही व्यापारिक दरों पर प्रभार लिये जा रहे हैं।  

श्री तिवारी ने कहा कि हमारे निरंतर राजनीतिक दबाव और जागरूकता के कारण ही केजरीवाल सरकार निजी बिजली कंपनियों के पक्ष में बिजली की दरों में कोई वृद्धि नहीं कर सकी है। 

(महेश वर्मा)

प्रमुख, मीडिया विभाग                                
9013336116

(प्रवीण शंकर कपूर)

सह-प्रमुख, मीडिया विभाग

9811040330 

KEJRIWAL GOVERNMENT COULD HAVE DECREASED THE POWER TARIFF BY 10 TO 15 PERCENT BY REDUCING THE RETURN ON EQUITY AT THE PRESENT BANK RATES BUT THE GOVERNMENT FAVORS THE PRIVATE POWER COMPANIES INSTEAD OF GIVING RELIEF TO THE PEOPLE – Manoj Tiwari

 

New Delhi, 31st Aug.  Delhi BJP President Shri Manoj Tiwari has said that Arvind Kejriwal Government and D.E.R.C. have betrayed the people of Delhi. During the last 31 months Kejriwal Government did not make any effort to reduce the power tariff in Delhi and misled the people about the audit of the accounts of power companies.

 

Shri Tiwari said that although the Government has not shown any hike in the power tariff directly but due to the changes made indirectly in the rates of fixed surcharge the private companies will get benefit of 35 to 40 crore rupees.

 

Delhi BJP President said that Kejriwal Government could have decreased the power tariff by 10 to 15 percent by reducing the Return on Equity at the present Bank rates but the Government favors the private power companies instead of giving relief to the people. Today the Bank rates are much lower in comparison with the rates 5 years ago but only the Arvind Kejriwal Government of Delhi is so much in favor of the power companies that it is giving the private companies Return on Equity on the basis of Bank rates prevailing in the year 2010.   

 

Shri Manoj Tiwari has said the D.E.R.C. & Kejriwal Government have disappointed farmers of Delhi too by not decreasing the power tariff of their irrigation connections which are being charged at almost commercial rates since 2016.

 

Shri Tiwari has said it is the result of our constant political pressure & vigil that Kejriwal Government has not been able give benefit of tariff hike to Private Power Companies.

(MAHESH VERMA)                                                                 

Head of Media Department  

+919013336116                                                           

(PRAVEEN SHANKAR KAPOOR)  

Co-Head of Media Department   

+919811040330

Bajrangi Prasad likes this.
 

Comments (no comments yet)

Top News