Loading ...

Press Release1:13.07.2017-Delhi State | Bharatiya Janata Party

Press Release1:13.07.2017-Delhi State

  •  /5
    Avg: 0 / 5 (0votes)
  • (0)
  • (141)
Published: 13/07/17 1:57 PM by Delhi BJP
केजरीवाल सरकार की हठधर्मिता के कारण नगर निगम व्यवस्था ठप्प होने की कगार पर
यदि केजरीवाल सरकार ने सोमवार की दोपहर तक वार्ड नोटिफिकेशन संबंधी स्वीकृति नहीं दी तो दिल्ली भाजपा के निगम पार्षद एवं कार्यकर्ता इस मामले को जनता के बीच ले जायेंगे और केजरीवाल सरकार का पर्दाफाश करेंगे-मनोज तिवारी

यह दिल्ली का दुर्भाग्य है कि जो सरकार बात-बात पर नगर निगम के कार्य की समीक्षा के लिये विधानसभा की बैठक बुला लेती है वह आज नगर निगम जोन कार्यालयों के पुनर्गठन पर जवाब देने से मुंह छुपा रही है - विजेन्द्र गुप्ता


    नई दिल्ली, 13 जुलाई।   दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने आज विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री विजेन्द्र गुप्ता के साथ एक पत्रकारवार्ता को सम्बोधित करते हुये दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार को चेतावनी दी कि सोमवार 17 जुलाई के अपराहन तक दिल्ली के तीनों नगर निगमों की वार्ड नोटिफिकेशन संबंधी स्वीकृति जारी नहीं की गई तो वह जनांदोलन का जवाब देने के लिए तैयार रहे। पत्रकार वार्ता में विधायक सरदार मंजिन्दर सिंह सिरसा, वरिष्ठ नेता श्री सुभाष आर्य एवं मीडिया प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर उपस्थित थे। 

    श्री तिवारी ने कहा कि नगर निगम चुनाव में हारी आम आदमी पार्टी दिल्ली की जनता से बदला लेने को आमादा है और इसी उद्देश्य से लोकमत से चुने नगर निगमों के भाजपा प्रशासन को काम नहीं करने देना चाहती। 

    लगभग 45 दिन पहले तीनों नगर निगमों के प्रशासनों ने नये क्षेत्रीय कार्यक्षेत्रों (जोन) पुनर्गठन संबंधी प्रस्ताव दिल्ली सरकार को भेज दिया था पर राजनीकि द्वेष से काम कर रही केजरीवाल सरकार के मंत्री सतेन्द्र जैन के कार्यालय ने गत एक माह से अधिक समय से यह फाइल दबी पड़ी है।  

    श्री तिवारी ने कहा कि हमारे तीनों नगर निगमों के महापौर एवं अन्य नेता अनेक बार मुख्यमंत्री केजरीवाल एवं मंत्री सतेन्द्र जैन से मुलाकात कर चुके हैं पर वह स्वीकृति देने को तैयार नहीं हैं।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यदि केजरीवाल सरकार ने सोमवार की दोपहर तक वार्ड नोटिफिकेशन संबंधी स्वीकृति नहीं दी तो दिल्ली भाजपा के निगम पार्षद एवं कार्यकर्ता इस मामले को जनता के बीच ले जायेंगे और केजरीवाल सरकार का पर्दाफाश करेंगे।

    श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार की हठधर्मिता के कारण नगर निगम की सबसे महत्वपूर्ण स्थायी समिति एवं वार्ड कमेटियों का गठन नहीं हो पा रहा और गठन न होने के कारण चुने हुये निगम पार्षदों को कोई फंड नहीं मिल रहा और नगर निगम का पूरा तंत्र ठप्प होने की कगार पर पहुंच रहा है।  दिल्ली में किसी भी वक्त मानसून तेज हो सकता है और उसके बाद डेंगू, चिकनगुनिया एवं मलेरिया जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।  इसी तरह निगम स्कूलों और अस्पतालों की व्यवस्था भी अधर में पड़ी है।  

    श्री विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि राज्य चुनाव आयुक्त द्वारा वार्ड परिसीमन के साथ ही जोन कार्यालयों के क्षेत्रों का पुनर्गठन करना भी दिल्ली सरकार के शहरी विकास मंत्रालय का कार्य है और जानबूझकर केजरीवाल सरकार फाइल को दबाये बैठी है। अनेक नये वार्ड दो वार्डों को जोड़कर बने हैं या अनेक स्थानों पर एक वार्ड के दो वार्ड हो गये हैं। ऐसे में पार्षदों को लोगों के काम कराने हेतु अधिकारी एवं कर्मचारी उपलब्ध नहीं हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह दिल्ली का दुर्भाग्य है कि जो सरकार बात-बात पर नगर निगम के कार्य की समीक्षा के लिये विधानसभा की बैठक बुला लेती है वह आज नगर निगम जोन कार्यालयों के पुनर्गठन पर जवाब देने से मुंह छुपा रही है। 
 

(प्रवीण शंकर कपूर)
मीडिया प्रमुख
09811040330   

Due to obstinate attitude of Kejriwal Government the working of Municipal Corporations has come to a Standstill

IF KEJRIWAL GOVERNMENT DOES NOT APPROVE THE WARD NOTIFICATION BY THE MONDAYAFTERNOON THE COUNCILORS AND WORKERS OF DELHI BJP WILL TAKE THIS ISSUE TO THE PEOPLE OF DELHI AND EXPOSE THE KEJRIWAL GOVERNMENT – MANOJ TIWARI

 

It is unfortunate that the Government which calls the session of the Legislative Assembly again and again for the assessment for the work of Municipal Corporations, is hiding on the issue of re-organization of Zonal Offices under the Municipal Corporations – Vijender Gupta          

 

New Delhi, 13th July.  Addressing a Press Conference today Delhi BJP President Shri Manoj Tiwari and Leader of Opposition in Legislative Assembly Shri Vijender Gupta warned the Arvind Kejriwal Government that if approval is not given to the ward notification for all the three Municipal Corporations by Monday afternoon (17thJuly) the Kejriwal Government should be prepared for a public movement. MLA Sardar Manjinder Singh Sirsa, Senior Leader Shri Subhash Arya and Media Incharge Shri Praveen Shankar Kapoor were present in the Press Conference.

 

Shri Tiwari said that Aam Aadmi Party which was defeated in the MCD elections is bent upon taking revenge from the people of Delhi and with this objective it is not allowing the BJP leadership elected by the people to work in the Municipal Corporations.

 

About 45 days ago the administrations of the three Municipal Corporations had forwarded the proposal for the re-organization of the jurisdiction of Zones but due to political malice, office of the Minister of Kejriwal Government Satender Jain is sitting over the file for about a month.

 

Shri Tiwari said that the Mayors of all the three Municipal Corporations and other leaders have met Chief Minister Kejriwal and Minister Satyender Jain many times but they are not ready to give their approval.

 

Delhi BJP President said that if Kejriwal Government does not approve the ward notification by theMonday afternoon the Councilors and workers of Delhi BJP will take this issue to the people of Delhi and expose the Kejriwal Government.

 

Shri Vijender Gupta said that due to obstinate attitude of Kejriwal Government the most important Standing Committees and Ward Committees of the Municipal Corporations are not being formed and due to this the elected Councilors are not getting funds and the entire system of Municipal Corporations has come to a standstill. The monsoon rains may become intense at any time and after that there will be danger of the outbreak of diseases like Dengue, Chikunguniya and Malaria. Similarly, the administration of Municipal Schools and Hospitals is also paralyzed.

 

Shri Vijender Gupta said that with the Ward delimitation by the Election Commission, the work of re-organizing the zonal offices is the duty of the Urban Development Ministry of Delhi Government but the Kejriwal Government is sitting over the file. Many new wards have been formed by joining two wards or at many places one ward has been divided into two wards. In this situation the Councilors are not getting officials and employees for getting the works done. He said that it is unfortunate that the Government which calls the session of the Legislative Assembly again and again for the assessment for the work of Municipal Corporations, is today hiding on the issue of re-organization of zonal offices under the Municipal Corporations.          

 

 

(PRAVEEN SHANKAR KAPOOR)

Media In-charge

+919811040330

Attachments
 

Comments (no comments yet)

Top News